BREAKING NEWS

मीडियाभारती वेब सॉल्युशन अपने उपभोक्ताओं को कई तरह की इंटरनेट और मोबाइल मूल्य आधारित सेवाएं मुहैया कराता है। इनमें वेबसाइट डिजायनिंग, डेवलपिंग, वीपीएस, साझा होस्टिंग, डोमेन बुकिंग, बिजनेस मेल, दैनिक वेबसाइट अपडेशन, डेटा हैंडलिंग, वेब मार्केटिंग, वेब प्रमोशन तथा दूसरे मीडिया प्रकाशकों के लिए नियमित प्रकाशन सामग्री मुहैया कराना प्रमुख है- संपर्क करें - 0129-4036474

अंतरराष्ट्रीय दिवस पर विधवाओं के अधिकारों की उठी आवाज अधिकार

मथुरा। विश्व भर में प्रत्येक वर्ष 23 जून को अंतर्राष्ट्रीय विधवा दिवस मनाया जाता है। विधवा दिवस के क्रम में श्री धाम वृंदावन के परिक्रमा मार्ग स्थित मैत्री घर आश्रम में आज अंतरराष्ट्रीय विधवा दिवस का कार्यक्रम शुक्रवार को आयोजित किया गया। जिसमें विधवा होने के पश्चात महिलाओं को होने वाले सामाजिक मानसिक कष्टों के बारे में चर्चा की गई।


कार्यक्रम की जानकारी देते हुए मैत्री घर के मैनेजर महेश सिंह ने बताया कि हमारे यहां कई वर्षों से यह विधवा महिलाएं निवास कर रही है। कुछ ने तो बहुत ही छोटी उम्र में अपने पतियों को खो दिया और विधवा का जीवन यापन शुरू कर दिया हमारे समाज में विधवा को बहुत ही अशुभ दृष्टि से देखा जाता है। उनको किसी भी शुभ कार्य में उपस्थित नहीं होने दिया जाता। हमारी इस सामाजिक कुरीतियों के चलते उनका जीवन बहुत ही कष्टमय में होता है।


अंतरराष्ट्रीय विधवा महिला दिवस हमें उन सामाजिक और आर्थिक कठिनाइयों और बढ़ती संवेदनशीलता पर विचार करने पर विवश करता है। सामाजिक और कानूनी संरक्षण के अभाव में इन बुजुर्ग विधवा महिलाओं की जीवन भर की कमाई और बचत अक्सर गरीबी से संघर्ष के लिए कम होती है। इन्हें बुजुर्ग विधवाओं के लिए विशेष रूप से सामाजिक सेवाएं अधिक महत्वपूर्ण होती है। जो इस उम्र में सामाजिक कुरीतियों की वजह से समाज परिवार से अलग हो जाती हैं और इन्हें प्रताड़ना झेलनी पड़ती है। इसके अतिरिक्त कुछ समाजों में विधवाओं का यौन शोषण एवं उत्पीड़न या जबरन विवाह और दुर्व्यवहार हिंसा का शिकार बनाया जाता है।


इस अंतरराष्ट्रीय विधवा दिवस पर मैत्री आश्रम ने संकल्प लिया है कि हम इन बुजुर्ग विधवाओं को हर तरह से सहयोग देने की अपनी प्रतिबद्धता दोहराएं और दोहराने के लिए तैयार है। उन कानून से और नियम से उन्हें अवगत कराएं जिससे यह अनभिज्ञ हैं। चाहे भले ही उनकी उम्र कुछ भी हो और कहीं भी रहती हो किसी भी कानूनी प्रणाली के दायरे में आती हों। हम उनको हर कानून नियम से अवगत कराएं और उन्हें सुरक्षा प्रदान करें और सुरक्षा दिलाएगे। मैत्री आश्रम की और बाहर की सभी बुजुर्ग विधवा को समाज में सुधार, सुरक्षा में सुधार और स्वास्थ्य में सुधार, करने और कराने का अंतरराष्ट्रीय विधवा दिवस पर संकल्प लेता है। कार्यक्रम में मुख्य रूप से रेखा राय, गुड़िया देवी, गौरी, शेर सिंह आदि उपस्थित रहे।

नारद संवाद

ई-श्रम कार्ड से असंगठित श्रमिकों की जिंदगी में आएगा बदलाव, जानें क्यों है जरूरी

Read More

हमारी बात

Bollywood


विविधा

अंतर्राष्ट्रीय बाल श्रम निषेध दिवस: भारत में क्या है बाल श्रम की स्थिति, क्या है कानून और पुनर्वास कार्यक्रम

Read More

शंखनाद

भारत बढ़ा रहा अंतरिक्ष क्षेत्र में अपनी पैठ

Read More