BREAKING NEWS

मीडियाभारती वेब सॉल्युशन अपने उपभोक्ताओं को कई तरह की इंटरनेट और मोबाइल मूल्य आधारित सेवाएं मुहैया कराता है। इनमें वेबसाइट डिजायनिंग, डेवलपिंग, वीपीएस, साझा होस्टिंग, डोमेन बुकिंग, बिजनेस मेल, दैनिक वेबसाइट अपडेशन, डेटा हैंडलिंग, वेब मार्केटिंग, वेब प्रमोशन तथा दूसरे मीडिया प्रकाशकों के लिए नियमित प्रकाशन सामग्री मुहैया कराना प्रमुख है- संपर्क करें - 0129-4036474

बरसात में जानलेवा साबित हो सकते हैं मथुरा, वृंदावन में खुले पड़े बिजली के बॉक्स

मथुरा। महानगर में जगह जगह खुले पड़े बिजली की अंडरग्राउंड केबल के बॉक्स बरसात के मौसम में जानलेवा साबित हो सकते हैं। शहर में विद्युत सुधार के लिए बिजली विभाग भले ही लाखों रुपए खर्च कर रहा हो लेकिन विभाग की अनदेखी इस समय किसी जनहानि का कारण बन सकती है। समूचे मथुरा वृन्दावन में केबिल बॉक्स खुले या टूटे पड़े हंै। विद्युत अधिकारी शिकायत मिलने पर भी कोई कार्यवाही नहीं करते। धर्म नगरी वृन्दावन के ये हाल शर्मनाक कहे जा सकते हैं। गौरा नगर कॉलोनी, पानी घाट, चार सम्प्रदाय मार्ग, बस स्टेशन आदि स्थानों पर जर्जर अवस्था में आ चुके बॉक्स किसी बड़े हादसे की वजह बन सकते हैं। विद्युत विभाग केवल की बॉक्स से बिजली की चोरी रोकने भर तक रह गई है। गौरा नगर कॉलोनी के गोविंद कुंड क्षेत्र में बिजली बॉक्स खुले पड़े हैं। गोविंद कुंड स्थित सरस्वती शिक्षा निकेतन के प्रधानाचार्य राजा शर्मा कहते है कि बारिश के बाद कॉलोनी में जलभराव होने के बाद इसमें अक्सर करंट आने की संभावना बनी रहती है। विभाग को चाहिए कि वह जल्द ही इसे बंद कराएं ताकि भविष्य में होने वाली किसी अप्रिय घटना से बचा जा सके।

कई बार पशु हुए है हादसे का शिकार
भारी आबादी वाले इस इलाके से आए दिन हजारों लोग गुजरते हैं। इतना ही नहीं कई बार खुले पड़े इस विद्युत बॉक्स पर मुंह मारते कई जानवर भी इसकी चपेट में आकर काल के ग्रास में समा चुके हैं। कई बार शिकायत करने के बाद भी विभाग ने कोई संज्ञान नहीं लिया

कॉलोनीवासी कई बार कर चुके हैं शिकायत
नगर उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल के चेयरमैन धनेंद्र अग्रवाल बॉबी का कहना है कि ठेकेदार तो विद्युत बॉक्स लगा कर चले गए, लेकिन अब कोई देखने वाला नहीं है। भले ही इनबॉक्स में खुले पड़े तारों से कोई चिपक कर मर जाए। सड़क किनारे खुले पड़े विद्युत बॉक्स के सामने से निकलने से भी डर लगता है। कभी भी कोई बड़ा हादसा हो सकता है। बॉक्स के आसपास पशु भी घूमते हैं तो बच्चे भी निकलते हैं। अधिकारियों को इस ओर ध्यान देना चाहिए।

 

नारद संवाद

ई-श्रम कार्ड से असंगठित श्रमिकों की जिंदगी में आएगा बदलाव, जानें क्यों है जरूरी

Read More

हमारी बात

Bollywood


विविधा

अंतर्राष्ट्रीय बाल श्रम निषेध दिवस: भारत में क्या है बाल श्रम की स्थिति, क्या है कानून और पुनर्वास कार्यक्रम

Read More

शंखनाद

भारत बढ़ा रहा अंतरिक्ष क्षेत्र में अपनी पैठ

Read More