BREAKING NEWS

मीडियाभारती वेब सॉल्युशन अपने उपभोक्ताओं को कई तरह की इंटरनेट और मोबाइल मूल्य आधारित सेवाएं मुहैया कराता है। इनमें वेबसाइट डिजायनिंग, डेवलपिंग, वीपीएस, साझा होस्टिंग, डोमेन बुकिंग, बिजनेस मेल, दैनिक वेबसाइट अपडेशन, डेटा हैंडलिंग, वेब मार्केटिंग, वेब प्रमोशन तथा दूसरे मीडिया प्रकाशकों के लिए नियमित प्रकाशन सामग्री मुहैया कराना प्रमुख है- संपर्क करें - 0129-4036474

मथुरा में भी मिलेगी स्तरीय न्यूरो सर्जरी ओपीडी

मथुरा। कान्हा की नगरी में भी अब स्तरीय न्यूरो सर्जरी ओपीडी मिलेगी। बीएलके मैक्स सुपर स्पेशलिटी अस्पताल ने मथुरा में इस सेवा की शुरुआत की है। ओपीडी एक महीने में दो बार चलेगी। महीने के पहले और तीसरे सोमवार को सुबह 10 बजे से दोपहर दो बजे तक यहां मरीज आ सकेंगे और न्यूरो संबंधी अलग अलग तरह की बीमारियों के बारे में एक्सपर्ट डॉक्टर से राय ले सकेंगे। ब्रेन ट्यूमर, रीढ़ की हड्डी से जुड़ी समस्या, हाथ पांव या शरीर का कोई अन्य हिस्सा कांपना, मिर्गी और माइग्रेन जैसी बीमारियों वाले मरीज यहां एक्सपर्ट डॉक्टर को दिखा सकेंगे. मथुरा में इस ओपीडी के शुरू होने से अब स्थानीय लोगों को दूसरे शहर नहीं जाना पड़ेगा, जिससे मरीजों को तो राहत मिलेगी ही, साथ ही उनके परिजनों को भी आसानी होगी। ओपीडी के शुभारंभ के मौके पर ’बीएलके मैक्स सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में न्यूरोसर्जरी एंड न्यूरो स्पाइन के सीनियर कंसल्टेंट डॉक्टर रोहित बंसिल ने लोगों को छोटे शहरों में बढ़ रही ब्रेन और स्पाइनल संबंधी बीमारियों से बारे में बताया। डॉक्टर रोहित ने ये भी बताया कि न्यूरो से जुड़ी दिक्कतें अब हर उम्र के लोगों को हो रही हैं। साथ ही ये भी समझाया कि आजकल मिनिमली इनवेसिव ट्रीटमेंट यानी कम से कम चीर काट करके बहुत ही सुरक्षित तरीके से दिमाग और रीढ़ की हड्डी जैसे संवेदनशील अंगों के सफल इलाज किए जा रहे हैं। न्यूरो सर्जरी के क्षेत्र में एडवांस तकनीक के आने से ऑपरेशन के बाद मरीजों की जिंदगी में काफी बेहतर सुधार देखा गया है. ऐसे में अगर स्पेशलिस्ट डॉक्टर्स की अच्छी टीम से सर्जरी कराई जाए तो बहुत अच्छे नतीजे आने की संभावना रहती है।

नारद संवाद

ई-श्रम कार्ड से असंगठित श्रमिकों की जिंदगी में आएगा बदलाव, जानें क्यों है जरूरी

Read More

हमारी बात

Bollywood


विविधा

अंतर्राष्ट्रीय बाल श्रम निषेध दिवस: भारत में क्या है बाल श्रम की स्थिति, क्या है कानून और पुनर्वास कार्यक्रम

Read More

शंखनाद

भारत बढ़ा रहा अंतरिक्ष क्षेत्र में अपनी पैठ

Read More