BREAKING NEWS

मीडियाभारती वेब सॉल्युशन अपने उपभोक्ताओं को कई तरह की इंटरनेट और मोबाइल मूल्य आधारित सेवाएं मुहैया कराता है। इनमें वेबसाइट डिजायनिंग, डेवलपिंग, वीपीएस, साझा होस्टिंग, डोमेन बुकिंग, बिजनेस मेल, दैनिक वेबसाइट अपडेशन, डेटा हैंडलिंग, वेब मार्केटिंग, वेब प्रमोशन तथा दूसरे मीडिया प्रकाशकों के लिए नियमित प्रकाशन सामग्री मुहैया कराना प्रमुख है- संपर्क करें - 0129-4036474

श्री राम की प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर ठाकुर जी ने धरा श्री राम का स्वरूप

मथुरा। पहली बार योगिराज ने मर्यादा पुरुषोत्तम बन कर श्रद्धालुओं को दर्शन दिये। वृंदावन के बांके बिहारी मंदिर में ठाकुरजी स्वर्ण मुकुट रजत धनुषबाण धारण कर दर्शन दिये। मंदिर में ठाकुर बांकेबिहारी की छवि देखने के लिए भक्त पहुंच रहे हैं। सोमवार को पूरा मंदिर परिसर गुब्बारों से सजाया गया। श्रीकृष्ण जन्मस्थान पर केशवदेव ने सियाराम के रूप में दर्शन दिये। अयोध्या धाम के साथ ही कान्हा की नगरी भी उल्लासित है। ठाकुर बांकेबिहारी स्वर्ण मुकुट धनुष बाण धारण कर भक्तों पर कृपा बरसा रहे हैं।
बांके बिहारी मंदिर के सेवायत नितिन सांवरिया ने कहा कि जहां भगवान राम आज के दिन अपने भव्य मंदिर में विराजमान होने जा रहे हैं। इसकी खुशी ब्रज में भी मनाई जा रही है। बांके बिहारी मंदिर में भी अपार खुशी का वातावरण है। बांके बिहारी लाल ने आज चांदी का धनुष बाण और मुकुट धारण कर भगवान राम के स्वरूप में भक्तों को दर्शन दिए हैं। श्रद्धालुओं को ठाकुर जी का प्रसाद वितरित किया जा रहा है। यह बहुत ही सौभाग्य का दिन है। वही धर्म नगरी वृंदावन के तिराहे चौराहे एवं गलियों में हर ओर भगवा झंडे लहरा रहे थे और साथ ही वृंदावन के हनुमान टेकरी आश्रम में प्रभु श्री राम का पंचामृत से अभिषेक कर प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव को दीपावली के रूप में मनाया गया। संपूर्ण कार्यक्रम की अध्यक्षता आश्रम के महंत दशरथ दास महाराज के द्वारा की गई।  श्रीकृष्ण जन्मस्थान पर ठाकुर केशवदेव राम बनकर दर्शन देंगे तो भागवत भवन में राधा कृष्ण भी सियाराम के रूप में नजर आए। ठाकुर बांकेबिहारी मंदिर में सोमवार को मंदिर की छटा अद्भुत है। पीले गुब्बारों से मंदिर की सजावट के बाद शाम को रंगबिरंगे विद्युत प्रकाश से मंदिर जगमगाएगा। मंदिर चबूतरे पर गेट संख्या एक और दो के बीच खाली पड़े भाग में विशाल रंगोली सजाई गई। मंदिर सेवायत आचार्य गोपी गोस्वामी ने बताया कि ठाकुर बांकेबिहारीजी पुरुषोत्तम प्रभु श्रीराम के भेष में सिर पर स्वर्ण मुकुट, रत्नजड़ित स्वर्ण रजत आभूषण धारण करके हाथ में चांदी का धनुष लिए भक्तों को दर्शन दिये। भक्त निहाल हो उठेंगे। कोलकाता के कारीगरों ने विशेष तौर पर बासंती पोशाक तैयार की। इसे सोमवार को ठाकुर जी ने धारण किया। ठाकुर राधावल्लभ लाल, ठाकुर राधासनेह बिहारी, राधादामोदर भी प्रभु श्रीराम के रूप में दर्शन दिये। श्रीकृष्ण जन्मस्थान में पहली बार भागवत भवन में विराजे श्री राधा कृष्ण युगल सरकार की छवि सियाराम के रूप में दर्शन दिए। जन्मस्थान के मंदिरों के भीतरी भाग को पत्र, पुष्प से सजाया गया। भागवत भवन के चारों ओर केसरिया ध्वज व भगवान श्रीराम की दिव्य छवि लगाई। दोपहर 12.15 बजे महाआरती हुई। ठाकुर केशव देव ने भी राम के रूप में दर्शन दिये।  

नारद संवाद


हमारी बात

Bollywood


विविधा

अंतर्राष्ट्रीय बाल श्रम निषेध दिवस: भारत में क्या है बाल श्रम की स्थिति, क्या है कानून और पुनर्वास कार्यक्रम

Read More

शंखनाद

Largest Hindu Temple constructed Outside India in Modern Era to be inaugurated on Oct 8

Read More