BREAKING NEWS

मथुरा : सरकारी विद्यालयों की जमीन पर बने सार्वजनिक शौचालय होंगे ध्वस्त || मथुरा : जनपद के प्रत्येक होटल, लाॅज, गेस्ट हाउस, पेइंगगेस्ट हाउस की होगी यूनीकोड आइडी || मथुरा : डीआरएम ने किया मथुरा जंक्शन का निरीक्षण || मथुरा : थाना दिवसः छह महीने बाद फिर सुनी गईं थाना दिवस में फरियाद

वृंदावन की विधवाओं ने पीएम मोदी को भेजी विशेष राखियां

वृंदावन के विभिन्न आश्रमों में रहने वाली विधवाओं ने इस साल रक्षाबंधन के त्योहार पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को राखी और वृंदावन थीम वाले मास्क भेजे हैं। इन राखियों पर ‘सुरक्षित रहें’ और ‘आत्मनिर्भर’ जैसे संदेश भी दिए गए हैं।

पिछले साल तक ये विधवा माताएं रक्षाबंधन के दिन राखी बांधने के लिए प्रधानमंत्री आवास पर जाती थीं। लेकिन, इस साल कोरोना संकट के चलते ऐसा संभव न हो सकेगा।

आश्रमों में रह रही इन माताओं ने इस रक्षाबंधन पर प्रधानमंत्री के चित्रों के साथ 501 विशेष राखियां तैयार की हैं। साथ में, इतने ही विशिष्ट वृंदावन-थीम वाले फेस मास्क भी उन्हें भेजे गए हैं। ये राखियां मां शारदा और मीरा सागरभग्नि आश्रम में रहने वाली वृद्ध विधवाओं के द्वारा तैयार की गई हैं।

ध्यान रहे, कई सामाजिक कलंकों को तोड़ने के उद्देश्य से सुलभ आंदोलन के संस्थापक डॉ. बिंदेश्वर पाठक ने वृंदावन में रहने वाली विधवाओं के लिए सभी महत्वपूर्ण हिंदू अनुष्ठानों का आयोजन शुरू किया था। रक्षाबंधन भी उसमें से एक है।

सुलभ होप फाउंडेशन की उपाध्यक्ष विनीता वर्मा ने बताया कि कोरोना संकट के चलते इसे लेकर इन विधवाओं में निराशा की भावना जरूर है लेकिन उनके हौसले बुलंद हैं। लगभग 75 साल की छबी दासी, जिन्होंने बीते वर्ष व्यक्तिगत रूप से प्रधानमंत्री को राखी बांधी थी, इस बार बेहद दुःखी हैं। लेकिन, वह इस बात से बेहद खुश भी हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को उनके द्वारा बनाई गई राखियां और मास्क भेजे जा रहे हैं।


कोरोना विशेष

मथुरा। कोविड शव को ले जा रही एम्बूलेंस का चालक अचानक बेहोश हो गया। हालांकि किसी तरह की कोई दुर्घटना नहीं हुई। स्थानीय लोगों ने चालक को एम्बूलेंस से निकाला। घटना की सूचना अधिकारियों को दी। 

Read More

हमारी बात

हमायी बात --------> एक राजा ने दूसरे राजा को हारकर विजय हासिल की. उसने वहां की प्रजा से वादा किया की में इस राज्य में तालाब, बावड़ी, बच्चों को विद्या कुंवारी कन्याओं के लिए विवाह और लोगों को काम दूंगा आदि. कुछ समय बीता प्रजा ने स्थानीय मंत्रियों तक बात पहुंचना शुरू किया।   

Read More

Bollywood

दर्शन