Editor's Picks

Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image

BREAKING NEWS

MATHURA : दुकानदारों से कहा सोशल डिस्टेंसिंग बनाएं || MATHURA : तीन माह के बिजली बिल, फीस माफी को चलाया हस्ताक्षर अभियान || MATHURA : धार्मिक संगठन और संस्थाएं लगातार कर रहीं सरकार से मदद की अपील || MATHURA : सीडीओ ने मांट में विकास कार्यों का जायजा लिया || कोरोना संकट : परिवारों को पहुंचाये राशन बैग

पैर भी जवाब दे गए है पर रुक नहीं रहे..?

अचानक फैसले भारी पड़ते है जो आज देखे गए.....आज मथुरा Nh2 पे मानव श्रृखला नहीं टूट रही..... बसों में ऐसा पलायन शायद इस समय के हिसाब से किसी न देखा हो अभी हमारे सर बता रहे थे की देश आजादी के समय मानव श्रृंखला बनी थी खेर हमे उस मुद्दे पे नहीं जाना....मौजूदा वक्त के हिसाब से सरकार को सोचना था.... अभी अचानक इतना सब ये किसी ने नहीं सोचा था क्योकि घर इन्हे भी पहुँचाना... खेर.... अब बात करते है इनकी परेशानी की कई लोगों ने बताया की कोई भी दिल्ली से हरियाणा तक इंतजाम नहीं थे सिर्फ आम लोगों ने मदद की..... छोटे-छोटे बच्चे को लेकर निकल लिए आगे रास्ता कितना लम्बा है ये नहीं सोचा कन्नौज जाने वाले विनोद ने बताया की दिल्ली में किराया पे कमरा है पर काम बंद हो गया है... ज्यादा दिन नहीं रह सकते थे खाने के लिए पैसे ख़त्म हो रहे थे.... इसलिए अपने बच्चे बीवी और भाई के साथ निकल लिए गांव में माँ बीमार है...तो कहाँ रुकते इसलिए निकलना पड़ा......साथ ही इटावा निवासी शंकर ने बताया की गाड़ी चलाते थे....मालिक ने फ्री कर दिए इसलिए निकलना हुआ कितनी दिन तक ये सब चलेगा ये पता नहीं....राजस्थान हिंडौन निवासी दुर्गेश ने बताया की काम बंद हो गया साइड पे सोते थे साइड बंद हो गयी ठेकेदार ने कहा....गांव निकल जाओ और निकल आये....ऐसे सैकड़ो परिवार थे......बात करते है दूसरी पर सोचनीय विषय ये है की प्रधानमंत्री जी के बताये हुए नियम में अभी तक सोशल डिस्‍टेंसिंग का पालन नहीं हो पा रहा....ये इतनी बड़ी मानव श्रृंखला हो सकती थी ये सोचा नहीं था....छोटे छोटे बच्चे मिलो का सफर पैर भी जवाब दे गए है....पर रुक नहीं रहे क्योकि मंजिल दूर है...किसी को जहाजों से बोलवा लिया पर किसी को एक बस नहीं मिली निकल दिए बच्चे महिलायें, जवान, बुजुर्ग सोचा नहीं कितना कठिन सफर है.....वैसे हम सब भारतीयों को साथ लड़ना होगा इस महामारी से....हरी कृपा जरूर होगी....मन तो बहुत कर रहा है और लिखे पर अब विरामा..... आगे आप सभी समझदार है मन किया क्योकि आजकल मन की बात ज्यादा होती है वैसे मन को पुराणों के हिसाब से चंचल बताया गया है....#गौतम