Editor's Picks

Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image

BREAKING NEWS

MATHURA : किसानों के बीच पैठ मजबूत करने में जुटी कांग्रेस || MATHURA : गंदगी से परेशान हैं वार्ड 43 के निवासी || MATHURA : बरसाना में शुरू हुआ 12 दिवसीय निःशुल्क चिकित्सा शिविर || मथुरा : आहट से कर्मचारियों में बढ़ी बेचैनी

INX MEDIA CASE : चिदंबरम ने परिवार से कराया ट्वीट, मैं नहीं चाहता कोई अधिकारी गिरफ्तार हो

नई दिल्ली। आईएनएक्स मीडिया मामले में कथित भ्रष्टाचार के आरोप में जेल में बंद पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने सोमवार को कहा कि किसी भी अधिकारी ने कुछ गलत नहीं किया है, और वह नहीं चाहते कि किसी को गिरफ्तार किया जाए। चिदंबरम ने परिवार से अपने ट्विटर हैंडल पर एक संदेश पोस्ट करने के लिए कहा। इसमें लिखा है, “लोगों ने मुझसे पूछा कि यदि वे दर्जन भर अधिकारी, जिन्होंने मामले को आप तक पहुंचाया और सिफारिश की, गिरफ्तार नहीं किए गए तो आपको क्यों गिरफ्तार किया गया? सिर्फ इसलिए कि आखिरी हस्ताक्षर आपने किया था? लेकिन मेरे पास इस सवाल का कोई जबाव नहीं था।” चिदंबरम ने कहा कि किसी भी अधिकारी ने कुछ गलत नहीं किया है। मैं नहीं चाहता कि किसी को गिरफ्तार किया जाए।

अर्थव्यवस्था पर जताई थी चिंता...
बता दें, पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम को सीबीआई ने आईएनएक्स मीडिया मामले में पिछले महीने 21 अगस्त को गिरफ्तार किया था। पी चिदंबरम को 5 सितंबर को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में तिहाड़ जेल भेज दिया गया था। स्पेशल जज अजय कुमार कुहाड़ ने चिदंबरम के वकील कपिल सिब्बल की उस दलील को खारिज कर दिया था कि उनके मुवक्किल को न्यायिक हिरासत में नहीं भेजा जाना चाहिए। न्यायिक हिरासत में भेजे जाने के सवाल पर चिदंबरम ने कहा था कि मुझे फिलहाल अर्थव्यवस्था की चिंता है। इससे पहले चिदंबरम सीबीआई की हिरासत में थे और जांच एजेंसी ने उन्हें न्यायिक हिरासत में भेजने की मांग की थी।

आरोप है कि वित्त मंत्री के रूप में चिदंबरम के कार्यकाल के दौरान 2007 में 305 करोड़ रुपये का विदेशी फंड प्राप्त करने के लिए आईएनएक्स मीडिया समूह को विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड (एफआईपीबी) की मंजूरी देने में अनियमितता बरती गई।

साभार-khaskhabar.com


संपादकीय

विशाल अग्रवाल ने बताया कि चालान सिर्फ ट्रफिक पुलिस काटे सभी पुलिस कर्मियों को इसकी जिम्मेदारी न दी जाये तो 50 प्रतिशत तक सही तरीके से काम हो पायेगा। जबकि आकाशवाणी के पूर्व उद्घोषक श्रीकृष्ण शरद, राकेश रावत एडवोकेट, पी0 के0 वार्ष्णेय, अरविन्द चौधरी, जगन्नाथ पौद्दार, पवन शर्मा, महेन्द्र राजपूत, जितेन्द्र गर्ग, सपन साहा, प्रताप विश्वास इन सभी ने माना कि इसमें पुलिस का फायदा अधिक होगा।  

Read More

तीसरी आंख

पुलिस लाइन के सामने क्या करने आया था लूट हत्या मुठभेड में वांछित 25 हजार का इनमी?

Read More

Bollywood

दर्शन