Editor's Picks

Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image

BREAKING NEWS

MATHURA : किसानों के बीच पैठ मजबूत करने में जुटी कांग्रेस || MATHURA : गंदगी से परेशान हैं वार्ड 43 के निवासी || MATHURA : बरसाना में शुरू हुआ 12 दिवसीय निःशुल्क चिकित्सा शिविर || मथुरा : आहट से कर्मचारियों में बढ़ी बेचैनी

CRIME :नौकरी का झांसा देकर दिल्ली के अस्पताल में नाबालिग से गैंगरेप

नई दिल्ली। नौकरी लगाने का झांसा देकर पश्चिम बंगाल की एक नाबालिग लड़की के साथ वेस्ट दिल्ली (West Delhi )में दो लड़कों ने ईएसआई (ESI )अस्पताल के परिसर में गैंगरेप किया। पीड़िता को 12 घंटे से भी अधिक समय तक खाली फ्लैट में बंधक बनाकर रखा गया। इस दौरान दोनों आरोपियों ने नाबालिग से कई बार अपनी हवस मिटाई। इस घिनौनी वारदात को बसई दारापुर इलाके में स्थित ईएसआई हॉस्पिटल परिसर में अंजाम दिया गया।

मिली जानकारी के अनुसार, 16 साल की पीड़िता सोमवार दोपहर ईएसआई हॉस्पिटल के सामने शिवाजी पार्क में अकेली बैठी थी। दोपहर करीब 12 बजे दो दरिंदे पार्क में आए। दोनों ने लड़की को यहां अकेले बैठे देखा। इसके बाद दोनों लड़के उसके पास पहुंचे और उसे नौकरी दिलाने का झांसा देकर ईएसआई हॉस्पिटल परिसर में अपने साथ ले गए।

बताया जाता है कि वहां एक पुराने फ्लैट में दोनों ने नाबालिग के साथ गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया। इसके बाद दोनों ने पीड़िता को रात 1 बजे के बाद छोड़ा। इस दौरान हॉस्पिटल की ओर से कोई भी सिक्यॉरिटी गार्ड या अन्य स्टाफ उस ओर नहीं फटका।


इसके बाद में आरोपी जब लड़की को बदहवास हालत मे छोड़कर भाग गए, तब लड़की वहां से बाहर निकली। इसके बाद हॉस्पिटल के सिक्यॉरिटी सुपरवाइजर की ओर से पुलिस को मंगलवार तड़के करीब 3:30 बजे पीसीआर कॉल की गई।
पुलिस ने जांच प्रारंभ करते हुए दो आरोपियों में से एक रवि का पता लगा लिया। इसके बाद बसई दारापुर निवासी 25 साल के रवि ने अपने दूसरे साथी अंकित चौधरी उर्फ वासू के बारे में भी जानकारी दे दी। फिर पुलिस ने 24 साल के अंकित को भी गिरफ्तार कर लिया। वह भी उसी इलाके का रहने वाला है। दोनों ने पुलिस को बताया कि पार्क में अकेली लड़की देखकर उन्होंने यह योजना बनाई थी।

साभार-khaskhabar.com


संपादकीय

विशाल अग्रवाल ने बताया कि चालान सिर्फ ट्रफिक पुलिस काटे सभी पुलिस कर्मियों को इसकी जिम्मेदारी न दी जाये तो 50 प्रतिशत तक सही तरीके से काम हो पायेगा। जबकि आकाशवाणी के पूर्व उद्घोषक श्रीकृष्ण शरद, राकेश रावत एडवोकेट, पी0 के0 वार्ष्णेय, अरविन्द चौधरी, जगन्नाथ पौद्दार, पवन शर्मा, महेन्द्र राजपूत, जितेन्द्र गर्ग, सपन साहा, प्रताप विश्वास इन सभी ने माना कि इसमें पुलिस का फायदा अधिक होगा।  

Read More

तीसरी आंख

पुलिस लाइन के सामने क्या करने आया था लूट हत्या मुठभेड में वांछित 25 हजार का इनमी?

Read More

Bollywood

दर्शन