Editor's Picks

Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image

BREAKING NEWS

MATHURA : दुकानदारों से कहा सोशल डिस्टेंसिंग बनाएं || MATHURA : तीन माह के बिजली बिल, फीस माफी को चलाया हस्ताक्षर अभियान || MATHURA : धार्मिक संगठन और संस्थाएं लगातार कर रहीं सरकार से मदद की अपील || MATHURA : सीडीओ ने मांट में विकास कार्यों का जायजा लिया || कोरोना संकट : परिवारों को पहुंचाये राशन बैग

कोरोना से है बचना, तो खानपान का ध्यान रखना

मथुरा। कोरोना वायरस यानि कोविड-19 के हमले से बचने के लिए रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने की जरूरत है। इसके लिए खानपान, नाश्ता, लंच और डिनर में क्या और कितना सेवन करना है? इसके लिए पहले ही आयुष मंत्रालय ने दिशा-निर्देश जारी किए हैं।
चिकित्सक व आहार परामर्शदाता डा. घनश्याम का कहना है कि अपनी डाइट में विटामिन ए व सी युक्त संतरा, आंवला, नींबू, अन्नानास, बेल, पपीता लें। दही, अदरक, हल्दी, लहसुन, हरी पत्ते वाली सब्जियां, दालें, ओट्स, अलसी, फलियाँ भोजन में शामिल करें। चिकन सूप इम्युनिटी बढ़ाने के लिए सर्वोत्तम है। जिंक का भी शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में बड़ा हाथ है। जिंक का सबसे बड़ा स्त्रोत सी फूड है, लेकिन ड्राई फ्रूट्स में भी जिंक भरपूर मात्रा में पाया जाता है। विटामिन डी धूप से और दूध, दही, अंडा, दलिया, मशरूम व मछली से मिल सकता है।
भारतीय थाली (दाल, चावल, रोटी, सब्जी, सलाद, दही) संतुलित आहार का सबसे अच्छा नमूना है। कोरोना के दौर में जिनसे सर्दी-जुकाम हो जाता है जिससे गले मे खरास व नाक बहने की स्थिति आ जाती है, इसलिए बचना चाहिए।
दो साल से छोटे बच्चों की इम्युनिटी कमजोर होती है, ऐसे बच्चों के लिए मां का दूध अमृत समान होता है। ये दूध बीमारियों से बचाता है। छह माह तक के बच्चों को सिर्फ माँ का दूध और छह माह से दो साल तक के बच्चों को माँ के दूध के साथ पूरक आहार दें।

डायबिटीज और हार्ट के मरीज रहें सर्तक
कोरोना के दौर में सदैव हाइड्रेटेड रहें। पानी ज्यादा से ज्यादा पियें और जूस, मट्ठा, शिकंजी, नारियल पानी भी पियें। डायबिटीज के मरीज हर दो तीन घंटे में कुछ स्वास्थ्यवर्धक खाना लेते रहें। हार्ट के मरीज, उच्च रक्तचाप के मरीजों को कम तेल के खाद्य पदार्थ व कम नमक का उयोग करना है। नियमित आहार में फल और सब्जी (सलाद) की मात्रा बढ़ा देनी चाहिए।