Editor's Picks

Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image

BREAKING NEWS

MATHURA : दुकानदारों से कहा सोशल डिस्टेंसिंग बनाएं || MATHURA : तीन माह के बिजली बिल, फीस माफी को चलाया हस्ताक्षर अभियान || MATHURA : धार्मिक संगठन और संस्थाएं लगातार कर रहीं सरकार से मदद की अपील || MATHURA : सीडीओ ने मांट में विकास कार्यों का जायजा लिया || कोरोना संकट : परिवारों को पहुंचाये राशन बैग

मथुरा : 71 वां वार्षिक भण्डारा महापर्व कल से जयगुरूदेव आश्रम पर

मथुरा। जयगुरुदेव धर्म प्रचारक संस्था तथा जयगुरुदेव धर्म प्रचारक टंस्ट के संयुक्त तत्वावधान में प्रतिवर्ष अगहन महीने की शुक्ल पक्ष की दशमी के अवसर पर पारम्परिक रूप से स्वामी घूरेलाल महाराज ‘दादा गुरु’ का वार्षिक भण्डारा महापर्व आयोजित किया जाता है। यह पांच दिवसीय जयगुरुदेव सत्संग-मेला इस बार 4 से 8 दिसम्बर तक आयोजित होगा। अबकी बार 71वां वार्षिक भण्डारा
है। मेले का मुख्य आकर्षण गुरु पूजन से प्रारम्भ होगा। भण्डारे छह दिसम्बर को है। पंकज महाराज का मुख्य आध्यात्मिक सत्संग 6 दिसम्बर को प्रातः 8 बजे से होगा। शेष दिनों में उपदेशकों के
प्रवचन सत्संग प्रातः साढे सात बजे व सायंकाल साढे तीन बजे से होगा। इस अवसर पर सत्संग पूजन के अलावा, सत्संग गोष्ठियां, प्रार्थना, साधना के अभ्यास, दहेज रहित विवाह आदि अनेक कार्यक्रम सम्पन्न होते हैं।
सोमवार को जयगुरुदेव चिरौली सन्त आश्रम कृष्णा नगर में आयोजित कार्यक्रम में संस्था के महामन्त्री बाबूराम यादव ने बताया कि सन्त बाबा जयगुरुदेव महाराज के गुरु पूज्यपाद स्वामी घूरेलाल महाराज की संसार में प्रकट होने तथा निजधाम जाने की दुर्लभ तिथि हैं। अपने गुरु के बारे में बाबा जयगुरुदेव महाराज कहते थे वह बहुत सादगी में छुपकर रहे। भौतिक शरीर से तो चले गये, लेकिन इसमें बैठकर उन्होंने जो जागरण किया, जो अनमोल सम्पत्ति अनमोल धन, अनमोल खजाना दिया, वो कभी मरता नहीं है। वो अनन्त सत्ता के स्वामी अन्तर्यामी महापुरुष थे।
संस्था के राष्टंªीय उपदेशक ने कहा कि इस बार मेले में विगत वर्षों की अपेक्षा अधिक लोगों के भाग लेने की सूचनायें हैं। यह मेला ब्रज क्षेत्र में करोड़ी मेले के रूप में प्रसिद्ध है। देश के कोने-कोने से लाखों-लाख की संख्या में लोग गुरु पूजन की दया-कृपा, बरकत व आशीर्वाद पाने के लिये टूट पड़ते हैं। पड़ोसी देश नेपाल राष्ट्र से श्रद्धालु भारी संख्या में पहुंचते हैं। विभिन्न प्रान्तों की वेशभूषा एवं संस्कृतियों के दर्शन होते हैं। एक प्रकार से जयगुरुदेव आश्रम मथुरा में लघुभारत बस जाता है।
इस मौके पर जयगुरुदेव आश्रम से प्रकाशित ‘दूरदर्शी आवाज’ नामक मासिक पत्रिका का ‘पद्मश्री’ श्री मोहन स्वरूप भाटिया ने विमोचन किया। मेला प्रभारी चैधरी चरन सिंह एडवोकेट ने बताया कि यह मेला अपने आप में अद्वितीय है। महीनों पहले से तैयारियां जारी हैं। आगन्तुकों की सुविधा के लिये आवासीय परिसर डेरे, तम्बुओं का अस्थाई जयगुरुदेव नगर बसाया जा रहा है। पेयजल, सफाई, प्रकाश, चिकित्सा, शौचालय, स्नानघर, सुरक्षा, पार्किंग, यातायात नियन्त्रण जैसी व्यवस्थायें चाकचैबन्द की जा रही हैं। मेला प्रबन्धक सन्त राम चैधरी ने बताया कि इस वर्ष मेला परिसर को 31 सेक्टरों मे ंबांट कर व्यवस्थायें की जा रही हैं। यातायात नियन्त्रण, पार्किंग की व्यवस्था में अनुभवी व प्रशिक्षित सेवादार लगाये जा रहे हैं। विभिन्न व्यवस्थाओं के व्यवस्थापक, सहव्यवस्थापक व सेक्टरों की देख-रेख के लिये सेक्टर व्यवस्थापक बनाये गये हैं।
पत्रकार-वार्ता के मौके पर संस्था के मन्त्री विनय कुमार सिंह, बिहार प्रदेश अध्यक्ष मृत्युन्जय झा, दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष विजय पाल सिंह, हरियाणा प्रान्त अध्यक्ष बुधराम यादव, मध्य प्रदेश अध्यक्ष नारेन्द्र प्रताप सिंह, संस्था की प्रबन्ध समिति के सदस्य आनन्द बहादुर सक्सेना, बीबी दोहरे, सुभाष चन्द्र, राजेश, रोहिताश गुप्ता, विजय प्रकाश श्रीवास्तव, जीतू भाई आर. पटेल, प्रवक्ता डा. राजबहादुर चैधरी, अनिल ठाकुर, डी.डी. शुक्ला, आदि उपस्थित रहे।