Editor's Picks

Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image

BREAKING NEWS

MATHURA : किसानों के बीच पैठ मजबूत करने में जुटी कांग्रेस || MATHURA : गंदगी से परेशान हैं वार्ड 43 के निवासी || MATHURA : बरसाना में शुरू हुआ 12 दिवसीय निःशुल्क चिकित्सा शिविर || मथुरा : आहट से कर्मचारियों में बढ़ी बेचैनी

जाकिर नाइक का वीडियो शेयर कर दिग्विजय ने मोदी-शाह को घेरा, भाजपा ने उठाए उल्टे सवाल

नई दिल्ली। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने भारत में वांछित मुस्लिम धर्म उपदेशक डॉ. जाकिर नाइक का एक वीडियो शेयर कर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। इस वीडियो में एक शख्स बोल रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह ने कुछ माह पूर्व मलेशिया में रह रहे नाइक से सहायता मांगी थी। मोदी और शाह ने जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद जाकिर नाइक से इसके समर्थन की बात कही।

इस वीडियो में बताया गया है कि नाइक के ऐसा करने पर सरकार उनसे जुड़े सभी केस वापस ले लेगी। दिग्विजय ने ट्वीट करते हुए लिखा कि मा प्रधानमंत्री जी तथा मा गृह मंत्री जी को डॉ. जाकिर नाइक के आरोप का विधिवत खंडन करना चाहिए। यदि नहीं करते हैं तो यही माना जाएगा कि देशद्रोही डॉ. जाकिर नाइक का आरोप सही है। इससे पहले भी दिग्विजय ने ट्वीट कर भाजपा को घेरा था।

उन्होंने लिखा कि जो उनसे असहमत है. उसे मनाओ, नहीं मानता है तो उसे धमकी दो, फिर भी नहीं मानता है उसे पद या पैसे का लालच दो, फिर भी नहीं मानता है तो उस पर झूठे आरोप लगाकर बदनाम करो। मान जाता है तो सारे आरोप ख़ारिज और नहीं मानता है तो उस पर राष्ट्रद्रोही होने का आरोप लगाओ और खूब प्रचारित करो। यदि ऐसा मौका आता है जब उसका उपयोग किया जा सकता है तो वे वही करते हैं जिसका उल्लेख डॉ. जाकिर नाइक ने किया है। वीडियो के वायरल होने के बाद भाजपा ने पलटवार किया है। भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि दिग्विजय सिंह के पास ये खबर कहां से आई है। क्या वो जाकिर नाइक से जुड़े हुए हैं। क्या उनके तार जाकिर नाइक से जुड़े हुए हैं। दिग्विजय ने इसके जवाब में लिखा कि बिल्कुल गलत आरोप। कांग्रेस की ओर से कभी भी आधिकारिक रूप से जाकिर नाइक का समर्थन नहीं किया गया। यह सच है कि मैंने मुंबई में उनके मंच से एक सांप्रदायिक सद्भाव सम्मेलन संबोधित किया था, लेकिन आप सभी उस सम्मेलन में नाइक के भाषण को देख सकते हैं। किसी भी बिंदु पर उसने सांप्रदायिक रूप से संवेदनशील बयान नहीं दिया।

 


 साभार-khaskhabar.com

 

 


संपादकीय

विशाल अग्रवाल ने बताया कि चालान सिर्फ ट्रफिक पुलिस काटे सभी पुलिस कर्मियों को इसकी जिम्मेदारी न दी जाये तो 50 प्रतिशत तक सही तरीके से काम हो पायेगा। जबकि आकाशवाणी के पूर्व उद्घोषक श्रीकृष्ण शरद, राकेश रावत एडवोकेट, पी0 के0 वार्ष्णेय, अरविन्द चौधरी, जगन्नाथ पौद्दार, पवन शर्मा, महेन्द्र राजपूत, जितेन्द्र गर्ग, सपन साहा, प्रताप विश्वास इन सभी ने माना कि इसमें पुलिस का फायदा अधिक होगा।  

Read More

तीसरी आंख

पुलिस लाइन के सामने क्या करने आया था लूट हत्या मुठभेड में वांछित 25 हजार का इनमी?

Read More

Bollywood

दर्शन