Editor's Picks

Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image

BREAKING NEWS

MATHURA : किसानों के बीच पैठ मजबूत करने में जुटी कांग्रेस || MATHURA : गंदगी से परेशान हैं वार्ड 43 के निवासी || MATHURA : बरसाना में शुरू हुआ 12 दिवसीय निःशुल्क चिकित्सा शिविर || मथुरा : आहट से कर्मचारियों में बढ़ी बेचैनी

जन शिकायतों के तीव्र समाधान के लिए जन मंच एवं मुख्यमंत्री हेल्पलाईन एकीकरण के होंगे प्रयासः जयराम ठाकुर

शिमला। मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने कहा कि जन मंच और मुख्यमंत्री हेल्पलाइन के एकीकरण की संभावनाएं तलाश की जाएंगी, ताकि जन समस्याओं के समाधान की प्रणाली को अधिक कारगर और परिणाम उन्मुख बनाया जा सके। वह आज यहां मुख्यमंत्री हेल्पलाईन की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे।

जय राम ठाकुर ने कहा कि प्रदेशभर में आयोजित जन मंच से प्राप्त सभी शिकायतों को मुख्यमंत्री हेल्पलाईन को स्थानांतरित किया जाएगा, ताकि इनकी प्रभावी निगरानी सुनिश्चित हो सके और शिकायतों का शीघ्र समाधान हो सके। वर्तमान में मुख्यमंत्री कार्यालय को प्राप्त हो रही सभी शिकायतों को मुख्यमंत्री हेल्पलाईन पर दर्शाया जा रहा है और इनका शीघ्र निपटारा सुनिश्चित किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री सेवा संकल्प हेल्पलाईन को और प्रभावकारी बनाने के उद्देश्य से शीघ्र ही एक कमांड कंट्रोल सेंटर स्थापित किया जाएगा। इसी प्रकार मुख्यमंत्री डैशबोर्ड को भी शीघ्र स्थापित किया जाएगा और इसे अधिक प्रभावपूर्ण बनाने के लिए गुजरात के माॅडल के अध्ययन के लिए अधिकारियों का एक दल गुजरात का दौरा करेगा। यह सेवा प्रदेश के लोगों की समस्याओं के तीव्र समाधान के लिए एक वरदान साबित होगी।

जय राम ठाकुर ने कहा कि मुख्यमंत्री डैशबोर्ड के आरम्भ होने से वह स्वयं विभिन्न शिकायतों और समस्याओं तथा उनके समाधान के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकेंगे। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि मुख्यमंत्री हेल्पलाईन पर आने वाली सभी शिकायतों के समाधान को शीर्ष प्राथमिकता देने के लिए पूर्ण समर्पण और निष्ठा से कार्य करें। इस मामले में कोई भी लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी और चूककर्ता के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जन समस्याओं के समाधान से जुड़ी सकारात्मक कहानियाें को विशिष्ट रूप से दर्शाया जाना चाहिए, ताकि अधिक से अधिक लोगों को अपने विभिन्न विषयों के समाधान के लिए इस मंच का उपयोग करने के लिए प्रेरित किया जा सके। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि उनके स्तर पर समस्याओं का निवारण निर्धारित समय में किया जाए, ताकि शिकायतकर्ताओं को राहत प्रदान की जा सके।

उन्होंने कहा कि शिकायतकर्ताओं की पूर्ण संतुष्टि के उपरांत ही शिकायतों और समस्याओं पर कार्रवाई बंद की जानी चाहिए और शिकायतकर्ताओं की संतुष्टि के बिना कार्रवाई बंद करने के मामले को गंभीरता से लिया जाएगा। उन्होंने विभिन्न विभागों से आपसी समन्वय के साथ कार्य करने के लिए कहा, ताकि शिकायतों का उचित एवं समयबद्ध निपटारा हो सके। उन्होंने लोगों की सुविधा के लिए प्रक्रिया के सरलीकरण पर भी बल दिया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वह स्वयं मुख्यमंत्री हेल्पलाईन की प्रगति की नियमित निगरानी करेंगे और समय-समय पर शिकायतकर्ताओं से भी बातचीत करेंगे, ताकि उनकी संतुष्टि के स्तर के बारे में पता चल सके।

प्रधान सचिव, सूचना प्रौद्योगिकी जेसी शर्मा ने मुख्यमंत्री को अवगत करवाया कि अभी तक मुख्यमंत्री सेवा संकल्प हेल्पलाईन 1100 पर 205111 काॅल्स प्राप्त हुई हैं, जिनमें से 50887 शिकायतें शामिल हैं। उन्होंने कहा कि बीते चार महीनों की अवधि में इनमें से 44210 शिकायतों का समाधान कर लिया गया है। उन्होंने मुख्यमंत्री को आश्वस्त किया कि हेल्पलाइन को और प्रभावकारी बनाने के लिए प्रभावी कदम उठाए जाएंगे।

निदेशक, सूचना प्रौद्योगिकी रोहन चन्द ठाकुर ने इस अवसर पर एक प्रस्तुति दी। मुख्य सचिव अनिल कुमार खाची, अतिरिक्त मुख्य सचिव आरडी धीमान, प्रधान सचिव ओंकार चन्द शर्मा, पुलिस महानिदेशक एसआर मरडी, प्रधान मुख्य अरण्यपाल वन अजय कुमार, सचिव डाॅ. आर एन बत्ता, निदेशक पर्यटन यूनुस, विशेष सचिव हेमराज बैरवा एवं आबिद हुसैन सादिक, निदेशक शहरी विकास आरके गौतम, राज्य विद्युत बोर्ड लिमिटेड के महाप्रबंधक जेपी काल्टा, निदेशक स्वास्थ्य डाॅ. अजय गुप्ता, निदेशक चिकित्सा शिक्षा रवि शर्मा एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारी इस अवसर पर उपस्थित थे।
 साभार-khaskhabar.com


संपादकीय

विशाल अग्रवाल ने बताया कि चालान सिर्फ ट्रफिक पुलिस काटे सभी पुलिस कर्मियों को इसकी जिम्मेदारी न दी जाये तो 50 प्रतिशत तक सही तरीके से काम हो पायेगा। जबकि आकाशवाणी के पूर्व उद्घोषक श्रीकृष्ण शरद, राकेश रावत एडवोकेट, पी0 के0 वार्ष्णेय, अरविन्द चौधरी, जगन्नाथ पौद्दार, पवन शर्मा, महेन्द्र राजपूत, जितेन्द्र गर्ग, सपन साहा, प्रताप विश्वास इन सभी ने माना कि इसमें पुलिस का फायदा अधिक होगा।  

Read More

तीसरी आंख

पुलिस लाइन के सामने क्या करने आया था लूट हत्या मुठभेड में वांछित 25 हजार का इनमी?

Read More

Bollywood

दर्शन