Editor's Picks

Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image

BREAKING NEWS

जयपुर : गहलोत-पायलट की लड़ाई में अटकी राजनीतिक नियुक्तियां, अब करना होगा लंबा इंतजार || बिहार में बाढ़ से 21 लोगों की मौत, 69 लाख की आबादी प्रभावित || कोरोना : पंडा पुजारी मांग कर रहे है मुआवजे की || MATHURA : पुलिस बोली डिप्रेशन में था इंजीनियर, कानपुर से किया बरामद

चाहत है सुन्दर जीवन साथी की तो महादेव पर करें इस फूल को अर्पण

यूं तो मनचाहा जीवनसाथी मिलना नसीब पर निर्भर करता है लेकिन ज्योबतिष के अनुसार महादेव पर अगर इस खास फूल को अर्पण किया जाए तो न केवल मनचाहा वर-वधू मिलता है बल्कि विपरीत आकर्षण में भी बढोतरी होती है।

कहते हैं महादेव तो केवल जल अर्पण करने भर से प्रसन्न होने वाले देवता हैं लेकिन बेला के फूल भगवान शिव तो अतिप्रिय हैं। शास्त्रों के अनुसार सुन्दर और सुशील जीवन साथी प्राप्ति के लिए प्रातः काल स्नान आदि के पश्चात किसी शिवमंदिर में तांबे या पीतल के लोटे में गंगा जल यदि गंगा जल उपलब्ध न हो तो शुद्ध जल और बेला के कम से कम पांच फूल डाल कर शिवलिंग पर एक धार से चढ़ाना चाहिए। साथ ही साथ ” ॐ नमः शिवाय ” मन्त्र का जाप करते रहना चाहिए। ध्यान रहे जल चढ़ाते समय जल की धारा टूटनी नही चाहिए। यदि गंगा जल का अभाव हो तो शुद्ध जल में कुछ बूंदे गंगा जल मिला कर भी प्रयोग कर सकते हैं।

घर में किसी भी तरह के अशुभता होने पर घर में 12 अंगुल की पलाश की लकड़ी को यदि अभिमंत्रित कर घर में गाड़ दिया जाये तो घर में किसी प्रकार की अशुभ शक्ति का प्रवेश नहीं होता है।

यदि आप चाहते है कि आप के घर में सदैव ऋद्धि सिद्धि और धन सम्पदा का स्थाई वास हो तो निवास के मुख्य द्वार पर बैठे हुए गणपति कि दो मूर्तियां इस प्रकार लगाएं कि दोनों कि पीठ एक दूसरे से सट जाय। इससे निवास में ऋद्धि-सिद्धि का वास होगा और आप का घर धन-धान्य से भरा रहेगा साथ ही कार्यों में सफलता मिलेगी। जीवन में समस्त नौ ग्रहों की शांति एवं शुभ फल प्राप्त करने हेतु एक सूखे नारियल के अंदर घी व चीनी भरकर उसे सुनसान जगह में किसी पेड़ के नीचे चीटियों के बिल के पास गाड़ दें। इस प्रयोग को हर तीन महीने में एक बार बिना किसी को बताये अवश्य ही किया करें । इस उपाय को करने से दुर्भाग्य दूर होता है, सफलता आसानी से प्राप्त होती है , सोचे हुए शुभ कार्य पूर्ण होते है।

 

 

 


 साभार-khaskhabar.com

 


कोरोना विशेष

मथुरा। मुड़िया मेला, हरियाली तीज, रक्षाबंधन के बाद अब श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर कोरोना का ग्रहण लग गया है। राधाष्टमी, बल्देव छठ जैसे ब्रज के आंचलिक आयोजन भी बिना भीडभाड के होंगे। मंदिरों पर भीड नहीं है।  

Read More

हमारी बात

मथुरा। देशभक्ति के कितने ही स्वरूप हो सकते हैं। कोरोना संकट ने ये साबित कर दिया कि देशभक्ति दिखने के लिए आप के आपके पास किसी भी जगह मौका है। एक नौजवान चिकित्सक ने कोरोना के मरीजों के इलाज में अपनी पूरी ताकत झौंक दी है।  

Read More

Bollywood

दर्शन